खास खबर/लोकल खबरधर्म और आस्थाप्रशासनशेखपुरा

होली में कहीं रंग ही रंग, तो कहीं पड़ गया रंग में भंग, प्रशासन की दिखी चौकसी, मिला-जुला रहा असर

रंगों के त्योहार होली का शेखपुरा जिले में मिला-जुला असर देखने को मिला। एक तरफ जहां लोगों ने जाति और धर्म का बंधन तोड़ कर एक दूसरे को अपने ही रंग में रंग दिया। तो दूसरी तरफ असामाजिक लोगों ने होली को बदनाम कर खून वाली होली भी खेल ही ली। शेखपुरा जिले के चारों तरफ से खुशियों भरा सन्देश दिनभर सोशल मीडिया पर देखने को मिलता रहा तो वहीं दो-एक स्थानों से जमकर खून-खराबे की रिपोर्ट भी मिली। जिलाधिकारी इनायत खान व पुलिस कप्तान कार्तिकेय शर्मा के नेतृत्व में जिला प्रशासन ने जिले में इस अवसर पर शांति व्यवस्था बनाये रखने में कोई कोर-कसर नहीं छोड़ा। चप्पे-चप्पे पर मजिस्ट्रेट के नेतृत्व में पुलिस बलों की मौजूदगी देखी गई। जिले के सभी प्रमुख स्थलों पर गश्ती दल लगातार भ्रमणशील रहे। जिले के चेवाड़ा, निमी, माउर आदि कई गांवों में आज के जमाने में भी परम्परागत होली ने सोशल मीडिया में सुर्खियां बटोरी। वहीं शेखपुरा, बरबीघा में होली का आधुनिक रंग भी देखने को मिला। कहीं वृंदावन की होली खेली गई तो कहीं बजरंगबली को गुलाल भी लगाया गया। इस दौरान लोगों ने भी खूब रंग-गुलाल उड़ाये व अपनों के साथ मिलकर होली का खूब आनंद उठाया। वहीं दूसरी तरफ कुछ जगहों पर लोगों ने होली में भी जमकर खून-खराबा किया। बरबीघा प्रखण्ड के डीह गांव ने गैरमजरूआ जमीन के विवाद में अमरजीत राम और उमेश राम के बीच जमकर फरसा और तलवार चला। जिसमें घायलावस्था में अमरजीत राम को रेफर किया गया। इसी प्रखण्ड के जाफरपुर गांव में भी नाली का पानी बहने के विवाद में दो पक्षों के बीच हुई मारपीट में आधा दर्जन लोग जख्मी हो गए। जिसमें एक पक्ष से 45 वर्षीय विनीता देवी उसका पुत्र रंजन राम और साजन राम तो दूसरे पक्ष से 60 वर्षीय विजय राम उसका पुत्र पंकज कुमार व कुंदन राम बुरी तरह घायल हो गया। दोनों गांव में पुलिस-प्रशासन ने स्थिति को नियंत्रण में ले रखा है। इसके अलावा शेखपुरा प्रखण्ड के बिहटा गांव में भी दो भाइयों के बीच बंटवारे को लेकर गांव से शुरू हुई मारपीट सदर अस्पताल में जाकर खत्म हुई। अस्पताल परिसर इस घटना का गवाह बन गया। अस्पताल परिसर खून से लाल हो गया। इसके अलावे भी कई छिटपुट अन्य घटनाएं भी सामने आई हैं। अरियरी प्रखण्ड के जखौर गांव के इंद्रदेव महतो के यहां रसोई गैस लीक होने से पूरे घर में आग लग गई। जिसमें नकदी समेत उसकी लाखों की सम्पत्ति जलकर राख हो गई। कुल मिलाकर शेखपुरा में होली का मिला-जुला रंग देखने को मिला। प्रशासन की लाख चौकसी के बाबजूद शराब की बिक्री भी हुई। लोगों ने सोशल मीडिया पर भी खुलेआम शराब की तस्वीरें पोस्ट की।

Back to top button
error: Content is protected !!