धर्म और आस्थाप्रशासनशेखपुरा

होली व शब्बे-बरात को लेकर जिला शांति समिति की बैठक में लिए गए कई निर्णय, जिलाधिकारी ने दी अग्रिम शुभकामना

शेखपुरा समाहरणालय के मंथन सभागार में आज आसन्न होली व शब्बे-बरात पर्व को लेकर जिले के शांति समिति के सदस्यों की एक महत्वपूर्ण बैठक हुई। जिलाधिकारी इनायत खान की अध्यक्षता में आयोजित इस बैठक दोनों त्योहारों को शांतिपूर्ण ढंग से मनाने को लेकर विचार-विमर्श किया गया। इस मौके पर जिलाधिकारी ने सभी शांति समिति के सदस्यों एवं जिलेवासियों को होली एवं शब्बे-बरात की अग्रिम शुभकामना देते हुए सभी शांति समिति के सदस्यों से जिले का फीडबैक प्राप्त किया। इस बाबत जिलाधिकारी ने कहा कि 29 और 30 मार्च को होली के साथ शब्बे-बरात पर भी मनाया जाएगा। दो समुदायों का अलग-अलग पर्व है, जिसमें सतर्क और सावधान रहने की आवश्यकता है। उन्होंने इस मौके पर अधिकारियों को निर्देश दिया कि दोनों पर्व को जिले में हर्षोल्लास के वातावरण में मनाया जाए एवं द्वेष की भावना ना हो। कहीं कोई अप्रिय घटना नहीं घटे। इसके बाद पंचायत चुनाव भी होना है छोटी-छोटी घटनाओं को प्रारंभ में ही रोकने से बड़ी घटना नहीं होगी। उन्होंने कहा कि हम लोगों को ढाल की तरह कार्य करना है, घटना को होने से पहले रोकना है। जिन प्रखंडों में शांति समिति की बैठक नहीं हुई है, उन्हें आज शाम तक बैठक करने का भी निर्देश दिया गया। साथ ही सभी अधिकारी, दंडाधिकारी, पुलिस अधिकारी एवं पुलिस बल को अपने अपने-अपने प्रतिनियुक्ति स्थल पर समय से पहुंचने और अपनी कार्यक्षमता का परिचय देते हुए निष्पक्ष और पारदर्शिता के साथ कार्य करना सुनिश्चित करने का निर्देश दिया गया। इसके अलावा उन्होंने कहा कि प्रखंड विकास पदाधिकारी एवं अंचलाधिकारी आसूचना के लिए अपने कर्मचारियों की प्रतिनियुक्ति करेंगे। पानी, बिजली, सफाई आदि की जो भी समस्या है, उसको एक दिन में समाधान कर लिया जाए। पर्व त्योहारों पर सफाई पर विशेष ध्यान देने के लिए कार्यपालक अधिकारी एवं प्रखंड विकास पदाधिकारी को कई निर्देश दिए गए। इस मौके पर शांति समिति के सदस्यों ने कहा कि अग्निशमन समय से पहुंचने पर अग्नि-कांड को रोका जा सकता है। शांति समिति प्रशासन का एक अंग है, और वो त्योहारों में आगे आकर ढाल का कार्य करता रहा है। वहीं पुलिस कप्तान कार्तिकेय के शर्मा ने शांति समिति के सदस्यों को कहा कि इन दोनों त्योहारों में शांति कायम करने के लिए आपकी महत्वपूर्ण भूमिका की अपेक्षा है। इस अवसर पर उन्होंने सभी पुलिस अधिकारियों को कई आवश्यक निर्देश दिए। आज की इस बैठक में शांति समिति के सभी सदस्य अपर समाहर्ता, उपविकास आयुक्त, अनुमंडल पदाधिकारी, जिला जनसंपर्क अधिकारी, भूमि सुधार उप समाहर्ता, जिला लोक शिकायत निवारण पदाधिकारी के साथ-साथ सभी जिला स्तरीय पदाधिकारी उपस्थित थे।

Back to top button
error: Content is protected !!