राजनीतिलापरवाहीशेखपुरा

बरबीघा रेफरल अस्पताल में मरीजों की जान से हो रहा है खिलवाड़, इमरजेंसी में दन्त चिकित्सकों से जबरदस्ती कराई जाती है ड्यूटी

शेखपुरा जिला के बरबीघा रेफरल अस्पताल में भारी अनियमितता वयाप्त है। वहीं अस्पताल के पदाधिकारी एक दूसरे पर दोषारोपण में लगे हैं। मरीजों की जान से लगातार खिलवाड़ हो रहा है। छोटे-छोटे केस भी रेफर किये जा रहे हैं। जिससे यहां के निवासिओं को काफी दिक्कत का सामना करना पड़ता है। सोमवार की रात करीब 9 बजे मारपीट के मामले में दो गम्भीर रूप से घायल मरीज भर्ती हुए। रेफरल अस्पताल के इमरजेंसी वार्ड में कोई मौजूद नहीं होने के कारण दंत चिकित्सक डॉ अनमोल ने उनका इलाज किया। एक गंभीर अवस्था के मरीज को रेफर किया गया, वहीं दूसरे को इलाज कर घर भेज दिया गया। ये मात्र बानगी भर हर रोज यहां ऐसा ही होता है। इस बाबत जब डॉ अनमोल से पूछा गया तो उन्होंने कहा कि रोस्टर के अनुसार ड्यूटी डॉ साकेत कुमार की है पर वरीय पदाधिकारी के मौखिक आदेश पर वह ड्यूटी कर रहे हैं। हालांकि उन्होंने वरीय पदाधिकारी का नाम लेने से इनकार कर दिया। इस बाबत रोस्टर बनाने वाले अस्पताल के प्रशासनिक पदाधिकारी डॉक्टर फैसल अरशद से दूरभाष पर बात हुई तो उन्होंने कहा कि मैंने रोस्टर बना दिया था। शाम में कई बार फोन लगाने के बाद जब डॉ साकेत का फोन बंद मिला तो उन्होंने 7:30 बजे के लगभग अस्पताल के पर्सनल व्हाट्सएप ग्रुप पर भी इस बात को लिखा और किसी भी सूरत में डॉ अनमोल के ड्यूटी नहीं करने की बात कही। साथ ही डॉ अनमोल की ड्यूटी किसके कहने पर लगाई गई, इस बात से उन्होंने अनभिज्ञता जताई। वहीं दूसरी तरफ इस बाबत जब अस्पताल के प्रभारी डॉ राजेंद्र से दूरभाष पर संपर्क साधा गया तो उन्होंने कहा कि दिन के 2 बजे ही डॉ फैसल ने मौखिक रूप से डॉ अनमोल के ड्यूटी की बात कही थी। उन्हीं के आदेश पर डॉ अनमोल रात्रि ड्यूटी कर रहे हैं। गौरतलब हो कि अस्पताल में सारी सुबिधाओं के बाद भी दंत चिकित्सा सेवा चालू नहीं होने की खबर मगही न्यूज़ पहले भी प्रकाशित कर चुका है। बावजूद इसके पदाधिकारियों ने कोई पहल नहीं की और दंत चिकित्सकों से इमरजेंसी ड्यूटी मौखिक आदेश पर करवाया जा रहा है। दन्त चिकित्सक से रात्रि ड्यूटी करवाई जाती है। अब जो रात्रि ड्यूटी में रात भर जागेगा वो दिन में ड्यूटी कैसे कर पायेगा। यही कारण है कि अभी तक सारी सुबिधाओं के बाबजूद यहां दन्त चिकित्सा की ओ पी डी की शुरुआत नहीं हो सकी है।

Back to top button
error: Content is protected !!